November 13, 2018

हार्टअटैक (हृदयाघात) के शुरुआती लक्षण और बचने के आसान घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे

हार्टअटैक (हृदयाघात) for gharelu paramarsh

हार्टअटैक (हृदयाघात) के शुरुआती लक्षण और हार्ट अटैक से बचने के आसान घरेलू उपाय वआयुर्वेदिक नुस्खे

Home Remedies for Heart Attack tips in Hindi

          हार्टअटैक (हृदयाघात) बीमारी का फैलाव बड़ी तेजी के साथ हो रहा है | खासकर भारत जैसे विकासशील देशों में तो यह बीमारी हर साल लाखों लोगों की जान ले रही है | क्योंकि ज्यादातर विकासशील देशों में या तो उन्नत मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध ही नहीं है और यदि है भी तो काफी महंगी होने के कारण बहुत से लोगों की पहुंच से बाहर है |

          शरीर के अन्य अंगों की तरह हमारे हृदय को भी लगातार काम करने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है | रक्त वाहिनियां रक्त के साथ ऑक्सीजन को भी हृदय तक पहुंचाती है लेकिन जब कभी वसा, प्रोटीन या प्लेटलेट्स के कारण कोई धमनी अचानक ब्लॉक हो जाती है तो उसे हृदयघात होता है |

          कभी-कभी व्यक्ति के हृदय की धड़कन एकाएक तेज हो जाती है हृदय में तेज दर्द होता है तथा बहुत अधिक पसीना आने लगता है घबराहट और बेचैनी होने लगती है और खड़ा नहीं रह पाता है | ऐसी स्थिति हार्टअटैक (हृदयाघात) की संभावना को बहुत अधिक बढ़ा देती है | अतः इस प्रकार की स्थिति उत्पन्न होते ही रोगी को प्राथमिक उपचार देते हुए तुरंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए वरना इसमें मृत्यु तक हो सकती हो |

इसे भी पढ़ें: हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के आसान घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे

          पेट में दर्द होना,, सीने में जलन और सांस लेने में तकलीफ होने के साथ-साथ दर्द जैसी स्थिति  हार्टअटैक (हृदयाघात) के लक्षण हो सकते हैं | कुछ हार्टअटैक अचानक भी होते हैं लेकिन ज्यादातर स्थितियों में हार्ट अटैक बहुत से लक्षणों के साथ होता है जिससे व्यक्ति को संभालने का  मौका मिल सकता है | हार्टअटैक (हृदयाघात) के लक्षणों को जानना हर किसी के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि कई बार ऐसे लक्षण इतने सामान्य लिखते हैं कि इन्हें मामूली दर्द समझा जाता है किंतु यह हार्ट अटैक के लक्षण होते हैं | आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको हार्ट अटैक के शुरुआती लक्षणों और हार्ट अटैक से बचने के आसान घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिनका ध्यान देखकर आप हार्टअटैक जैसी गंभीर बीमारी के खतरे से बच सकते हैं |

 

हार्ट अटैक (हृदयाघात ) के शुरुआती लक्षण:

Heart Attack Symptoms

सांस लेने में तकलीफ होना-

          सांस लेने में तकलीफ दिल पर अतिरिक्त  दबाव के कारण हार्टअटैक (हृदयाघात) का लक्षण भी हो सकता है | यदि बिना किसी कारण के आपको अक्सर थकान रहती है या आप हमेशा थका-थका महसूस करते हैं तो यह हार्ट अटैक का  लक्षण हो सकता हैं | थकान और सांस लेने में तकलीफ होना यह समस्या महिलाओं में आमतौर पर देखी जाती है और हार्ट अटैक होने से कई दिन पहले इसकी शुरुआत हो जाती है |

उल्टी जैसा महसूस होना-

          हार्टअटैक (हृदयाघात) होने से पहले अपच और गैस संबंधित समस्याएं देखने को मिलती है किंतु आमतौर पर उम्रदराज लोगों में पाई जाने वाली अपच की समस्या समझ कर इसे नजरअंदाज कर देते हैं | लेकिन अपच, सामान्य रूप से पेट में दर्द होना  या उल्टी की समस्या होना हृदयघात का लक्षण हो सकता है |

सामान्य से अधिक पसीना आना-

          यदि आपको बहुत अधिक पसीना आता है और चिपचिपी त्वचा का अनुभव रहता है तो आपको तुरंत ही अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए | बिना अधिक काम किए और एक्सरसाइज करने के दौरान यदि सामान्य से ज्यादा पसीना आता है तो यह हृदय की समस्याओं की पूर्व चेतावनी का लक्षण हो सकता है | जब धमनियों में अवरोध होता है तो रक्त को दिल तक पहुंचाने के लिए बहुत अधिक प्रयास करना पड़ता है जिससे आपके शरीर को अतिरिक्त तनाव में शरीर के तापमान को नीचा बनाए रखने के लिए अधिक पसीना आता है |

शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द होना-

          दर्द शरीर के अन्य हिस्सों में भी हो सकता है इसमें कमर, गर्दन, बांहों और जबड़े में दर्द या भारीपन महसूस होता है | कभी-कभी इस प्रकार का दर्द शरीर के किसी भी हिस्से से शुरू होकर सीने तक पहुंच सकता है |अतः इन लक्षणों की अनदेखी नहीं करना चाहिए और  तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए |

सीने में दर्द, दबाव और बेचैनी महसूस होना-

          सीने में दर्द या बेचैनी महसूस होना हृदयाघात के सबसे सामान्य लक्षणों में से एक है | हालांकि कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें की बिल्कुल भी सीने में दर्द का अनुभव नहीं होता किंतु सीने में बेचैनी, दबाव, जकड़न, दर्द और भारीपन का एहसास होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए |

हार्ट अटैक से बचने के आसान घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे:

Home Remedies for Heart Attack tips in Hindi

  • जैसे ही हृदयाघात के लक्षण प्रतीत हो तुरंत लहसुन की 5-7 कलियां अच्छी तरह चबाकर खा जाएं | इसके बाद दूध में लहसुन पकाकर पीते रहें इससे दौरा पड़ने की संभावनाएं पूरी तरह से टल जाती है |
  • कपूर और पिपरमेंट को हथेली पर रखकर गहरी-गहरी सांस लेकर सूंघने से दौरा पड़ने की संभावना टल जाती है |
  • अखरोट और बादाम नियमित रूप से खाते रहने से हृदयघात के खतरे से बचा जा सकता है |
  • दो चम्मच बेल का ताजा रस और दो चम्मच गाय का शुद्ध देसी घी मिलाकर लेने से दिल के दौरे से बचा रहा जा सकता है |
  • हृदयघात होने की संभावना पर गर्म दूध  चाय या गरमा गरम कॉफी पीना लाभप्रद रहता है ठंडी और वायु वाली तथा वसा वाली चीजों से बचें |
  • भोजन करने के बाद दोपहर और रात को वज्रासन तथा थकान महसूस करने पर शवासन करना चाहिए |
  • हरी सब्जियां, ताजे फल, कम चिकनाई युक्त बिना मलाई वाले दूध से निर्मित खाद्य पदार्थ हृदय रोग में नियमित रूप से लेना चाहिए |
  • हृदय रोगों से ग्रस्त या अन्य लोग जो कि दिल की बीमारियों से दूर रहना चाहते हैं वह हमेशा शाकाहारी भोजन करें और प्रतिदिन योगाभ्यास करें |
  • हृदय रोग से बचने के लिए प्रतिदिन तनावरहित गहरी नींद ले |
  • अत्यधिक मात्रा में धूम्रपान एवं शराब का सेवन ना करें |
  • व्यवस्थित दिनचर्या एवं उचित खान पान का ध्यान रखें |
  • आंवले का सेवन करें, आंवले में रोग प्रतिरोधक रोग गुण होने के कारण स्वत: ही रोगों से सुरक्षा प्राप्त होती है | आंवला एक उच्च कोटि का रसायन है यह रक्त में उपस्थित हानिकारक व विषैले पदार्थों को निकालने में सक्षम है |
  • सेब का मुरब्बा या ताजे सेब कुछ दिनों तक खाते रहने से हृदय की कमजोरी दूर होती है तथा हार्टअटैक की संभावना नहीं रहती है  |

           इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको हार्टअटैक (हृदयाघात)  की समस्या का इलाज करने के कारगर घरेलू उपायों के बारे में पूरी जानकारी दे दी है |यहां पर दिए हुए आयुर्वेदिक व देशी इलाज मैं से किसी एक आयुर्वेदिक नुस्खे को अपनाकर आप हार्टअटैक (हृदयाघात)  की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं | यह हानिरहित उपाय है जिसके इस्तेमाल से आप हार्टअटैक (हृदयाघात) जैसी समस्या का घर बैठे आसानी से उपचार कर सकते हैं ऐसे नुस्खे और उपचार आपको और कहीं नहीं मिलेंगे |

            दोस्तों आपके द्वारा किया गया एक SHARE भी किसी के लिए अमृत के समान हो सकता है इसलिए यहां दिए गए SHARING Button पर क्लिक करके Facebook, Whatsup, Google plus, Twitter सभी जगह पर इस लेख को शेयर करें | हमारी मदद करें स्वदेशी व प्राचीन नुस्खों को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए |

धन्यवाद,

           हार्टअटैक (हृदयाघात) की समस्या का इलाज करने के जो उपाय ऊपर पोस्ट में बताए गए हैं वह आपकी जानकारी के लिए हैं इन्हें करने से पहले इनके तरीके की पूरी तरह से जानकारी लें | अगर इलाज करने के बाद भी आराम नहीं मिल रहा है तो डॉक्टर से संपर्क करें |

इसे भी पढ़ें:-

किडनी खराब होने से पहले शरीर देता है यह महत्वपूर्ण संकेत

मोटापे को तेजी से कम करने के 5 घरेलू कारगर उपाय,Waight loss tips

पथरी के लक्षण कारण और पथरी का इलाज

धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय,HOME REMEDIES FOR QUIT SMOKING

स्तन कैंसर के लक्षण और उससे बचाव के उपाय,Symptoms of Breast cancer

उच्च रक्तचाप ( High Blood Pressure ) को कंट्रोल करने के आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे

1 thought on “हार्टअटैक (हृदयाघात) के शुरुआती लक्षण और बचने के आसान घरेलू उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *