October 22, 2018

पथरी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं,Pathri me kya khana chahiye kya nahi

पथरी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं for ghareluparamarsh

पथरी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं, Pathri me kya khana chahiye kya nahi in Hindi

पथरी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं:- अक्सर बहुत सी बीमारियों में हमें यह पता ही नहीं होता है कि ऐसे में क्या खाएं और क्या ना खाएं और इसी जानकारी के अभाव में कई बार बीमारियां बड़ा रूप ले लेती है | गुर्दे की पथरी होने पर भी हमें कुछ ऐसी ही सावधानियां रखनी होती है | पथरी का दर्द अत्यधिक पीड़ादायक होता हैपथरी होने की संभावनाओं को कम करने के लिए और पथरी होने पर उस के दर्द को कम करने के लिए आपको उचित खान पान की जानकारी होना अति आवश्यक है | इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि पथरी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं |

पथरी के लक्षण कारण और पथरी का इलाज 

पथरी की समस्या में या पथरी की समस्या से बचने के लिए इन चीजों का सेवन करना चाहिए

  • पथरी बनने का एक प्रमुख कारण भोजन में फाइबर की मात्रा का कम होना है, पथरी की समस्या उन लोगों में ज्यादातर पाई जाती है जो भोजन में फाइबर  कम लेते हैं पर प्रोटीन ज्यादा से ज्यादा मात्रा में लेते हैं  | इसलिए फाइबर युक्त पदार्थ का सेवन करें | फली वाली ताजा सब्जियांओट्स, दलिया, चावल, में फाइबर खासतौर से पाया जाता है|  यह सभी चीजें संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है | हम आपको एक बार फिर से बता देना चाहते हैं कि फली वाली सब्जी हरी होना चाहिए सुखी बींस नहीं होना चाहिए |
  • पथरी में हरी सब्जियां, करेला, ताजी मटर की फलियां, शलगम, पुराना कद्दू, अदरक, ककड़ी, खीरा, चुकंदर, धनिया, हल्दी, हरी मिर्च, हींग, अजवाइन, दालचीनी, छोटी इलायची, पत्ते वाली गोभी ,आदि को खाना चाहिए |
  • पथरी में फलों में आम, तरबूज, अंगूर, खरबूजा, खीरा, पपीता, नारियल, नाशपाती, अनानास, ककड़ी, सेब, गाजर आदि अपनी इच्छा अनुसार खाना चाहिए |
  • पथरी में गेहूं के आटे से चोकर निकालकर बनी हुई चपाती खाएं |
  • पथरी के दर्द के समय जो, अलसी के बीजों का पानी पीना चाहिए |
  • पथरी की समस्या से बचने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पिए | पानी पीने से गुर्दे में गंदगी नहीं जमती है और ऐसे में पथरी होने के चांस बहुत कम हो जाते हैं |
  •  प्रतिदिन नियमित रूप से नींबू पानी पीने से किडनी में स्टोन होने की संभावना कम होती है और गर्मियों में पेट की गर्मी भी कम होती है |
  • पथरी का बनना रोकने के लिए चुकंदर का रस पीना चाहिए |
  •  प्रतिदिन गाजर और पालक का रस पीने से भी गुर्दे की पथरी के होने की संभावनाएं बहुत कम हो जाती है |
  • पथरी के रोग को दूर करने के लिए गन्ने के रस का सेवन करें| गन्ने के रस से पथरी की समस्या में बहुत लाभ मिलता है |
  • पथरी की समस्या से बचने के लिए जितना हो सके तरल पदार्थ का सेवन करना चाहिए |

 पथरी की समस्या में किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए

  • पथरी के रोगी को देर से पचने वाली गरिष्ठ चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए | आवश्यकता से अधिक मात्रा में भोजन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे शरीर का वजन बढ़ता है जो कि कई प्रकार की स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं को जन्म देता है |
  •  कोल्ड ड्रिंक्स और मांस मछली के सेवन से परहेज करें |
  •  फलों में स्ट्रॉबेरी, आड़ू, बेर, अंजीर, रसभरी तथा किशमिश मुनक्का जैसे ड्राई फ्रूट के सेवन से परहेज करें |
  •  दूध और दूध से बने पदार्थ, दही, मक्खन, पनीर, टॉफी, नूडल,,तला हुआ, ,ड्राई फूड, जंक फूड, चिप्स, चाकलेट, चाय का सेवन करने से बचना चाहिए |
  • पथरी के रोगी को टमाटर, पालक, चौलाई, अंगूर काले, आंवला, सोयाबीन, अजमोद, सोया मिल्क, चीकू, काजू, चॉकलेट, कद्दू ,सूखे विंस,कच्चा चावल, उड़द, चने, नट्स, बादाम, अखरोट, काजू, मूंगफली आदि का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि इन भोज्य पदार्थों में ऑक्सलेट होता है जो की पथरी का कारण बनता है | इसलिए पथरी की समस्या होने पर इनको नहीं खाना चाहिए |
  • मांस, मछली, बैंगन, मशरूम, फूलगोभी में पथरी बनाने वाले यूरिक एसिड होते हैं  इसलिए पथरी की समस्या में इनके सेवन से बचना चाहिए |
  • पथरी के रोगी को उच्च फास्फोरस वाले पदार्थों के सेवन से भी बचना चाहिए इनमें चॉकलेट,नट्स, कार्बोनेटेड, ड्रिंक्स, दूध, पनीर, सोया पनीर, सोया दही ,फास्ट फूड, रेस्टोरेंट फूड आदि होते हैं |
  • किडनी और पथरी की समस्या में चिकन, मांस आदि से परहेज करना चाहिए क्योंकि इन पदार्थों में फेट तो ज्यादा होता ही है, प्रोटीन भी बहुत ज्यादा मात्रा में होता है |शाकाहारी लोगों को भी इस रोग में प्रोटीन कम ही लेना चाहिए |
  •  पथरी के रोगी को भोजन में नमक की मात्रा का सेवन कम करना चाहिए | ज्यादा नमक पेशाब में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ा देता है इसलिए सब्जी में तो कम नमक होना ही चाहिए साथ ही सलाद आदि में ऊपर से नमक छिड़क कर खाना बिल्कुल बंद कर दें |
  • दूध और दूध से बने उत्पादों जैसे पनीर, हरी पत्तेदार सब्जियों में कैल्शियम पाया जाता है | इसकी कमी से हड्डियां और दांत कमजोर हो जाते हैं, यानी कैल्शियम शरीर के लिए जरूरी होता है |मगर किडनी स्टोन संबंधी समस्या में ज्यादा कैल्शियम हानिकारक होता है | इसलिए कैल्शियम का सेवन तो करें मगर उस की मात्रा अधिक नहीं होना चाहिए |
  • कोल्ड ड्रिंक, सॉफ्ट ड्रिंक आदि में फास्फोरिक एसिड का इस्तेमाल होता है | इसलिए किडनी स्टोन की समस्या में  इनका सेवन उचित नहीं है |
  •  अल्कोहलिक पदार्थों में ट्यूरिन पाया जाता है, जो किडनी स्टोन के निर्माण में  महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है | इसलिए पथरी रोगी को शराब का सेवन करना बिल्कुल भी ठीक नहीं है  इससे समस्या और बढ़ेगी |
  •  पथरी की समस्या में ज्यादा चिकनाई वाला भोजन, तला भुना भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए | यह केवल पथरी की समस्या में ही नहीं बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए भी नुकसानदायक है |

 पथरी के रोगी को इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए

  • दर्द की जगह पर गर्म सिकाई करें |
  • बिस्तर पर पूरी तरह से आराम करें |
  • पेशाब आने की स्थिति में उसे रोके |
  • अपनी मर्जी से दर्द निवारक एलोपैथिक दवाइयों का सेवन करने से बचें |
  • शरीर को उस अवस्था में रखें जिसमें दर्द में आराम मिल सके |
  • योगासन में हलासन, धनुरासन, भुजंगासन, पवनमुक्तासन करें |

          इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको ‘पथरी में क्या खाना चाहिए क्या नहीं’ के बारे में पूरी जानकारी दे दी है |यहां पर दिए हुए आयुर्वेदिक व देशी इलाज अपनाकर आप पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं | यह हानिरहित उपाय है जिसके इस्तेमाल से आप पथरी जैसी समस्या का घर बैठे आसानी से उपचार कर सकते हैं ऐसे नुस्खे और उपचार आपको और कहीं नहीं मिलेंगे |

             दोस्तों आपके द्वारा किया गया एक SHARE भी किसी के लिए अमृत के समान हो सकता है इसलिए यहां दिए गए SHARING Button पर क्लिक करके Facebook, Whatsup, Google plus, Twitter सभी जगह पर इस लेख को शेयर करें | हमारी मदद करें स्वदेशी व प्राचीन नुस्खों को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए |

धन्यवाद,

            पथरी की समस्या का इलाज करने के जो उपाय ऊपर पोस्ट में बताए गए हैं वह आपकी जानकारी के लिए हैं इन्हें करने से पहले इनके तरीके की पूरी तरह से जानकारी लें | अगर इलाज करने के बाद भी आराम नहीं मिल रहा है तो डॉक्टर से संपर्क करें |

इसे भी पढ़ें:-

किडनी खराब होने से पहले शरीर देता है यह महत्वपूर्ण संकेत

मोटापे को तेजी से कम करने के 5 घरेलू कारगर उपाय,Waight loss tips

पथरी के लक्षण कारण और पथरी का इलाज

धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय,HOME REMEDIES

5 दिनों में बालों का गिरना और टूटना रोके आसान घरेलू उपाय से, Hair fall Solution

स्तन कैंसर के लक्षण और उससे बचाव के उपाय,Symptoms of Breast cancer

कैंसर की शुरुआत के 10 प्रमुख बड़े लक्षण

चेहरे के दाग धब्बे और पिंपल हटाने के उपाय

मुंह के छाले दूर करने के कारगर घरेलू उपाय, Mouth Ulcers Home remedies in Hindi

छोटे बच्चों की मालिश कैसे करें, How to massage a new born baby

नई माताओं के लिए आवश्यक एवं महत्वपूर्ण सुझाव

पथरी के लक्षण कारण और पथरी का इलाज

गर्भावस्था के शुरुआती संकेत,Early Symptoms of Pregnancy in hindi

नवजात शिशु को नहलाने का तरीका,Tips for Bathing your new born baby

दातों में यदि लगता है ठंडा-गरम तो अपनाएं ये उपाय,Sensitive danto ka ilaj

बच्चो को होने वाली आम बीमारिया और उनके इलाज

गर्भावस्था के दौरान भोजन कैसा होना चाहिए, What should be the food during pregnancy

धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय,HOME REMEDIES FOR QUIT SMOKING

सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखें कुछ खास ख्याल, Some special care after cesarean delivery

धूप में शरीर और चेहरे की त्वचा की देखभाल कैसे करें,How to care body and face skin in the sun.

शराब पीने के फायदे,Benefits of drinking

चेहरे के अनचाहे बालों को हटाने का असरदार तरीका,Effective way to remove unwanted hair from face

मानसिक तनाव के कारण और उससे मुक्ति पाने के उपाय – STRESS MANAGEMENT

प्रीमैच्योर डिलीवरी क्यों होती हैऔर प्रीमैच्योर शिशु का ध्यान कैसे रखें?Premature delivery

0 से 12 माह तक कैसा होना चाहिए आपके शिशु का डाइट प्लान

कमजोर और दुबले -पतले बच्चो को इन आहार के जरिये करे मोटा

गर्भावस्था में यह गलतियां कभी ना करें

यदि आपके बाल भी समय से पहले सफेद हो रहे हैं तो अपनाएं ये आसान तरीके

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *