November 13, 2018

गर्भावस्था में यह गलतियां कभी ना करें,Pregnency Prication

Pregnency for Gharelu paramarsh

गर्भावस्था में यह गलतियां कभी ना करें

          किसी युवती के लिये पहली बार माँ बनना एक अनोखी और चुनौती वाली क्रिया होती है| जैसे ही महिला गर्भधारण करती हैं वैसे ही गर्भधारण करने के बाद से महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव शुरू हो जाते हैं| और यह बदलाव पहले महीने से शुरू हो जाते हैं| इसीलिए गर्भावस्था के पहले महीने से ही गर्भवती महिला को कुछ सावधानियां बरतनी शुरू कर देनी चाहिये| वरना एक छोटी सी लापरवाही सारे सपनों को चूर चूर कर सकती है ऐसे में कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए जिसके बारे में हम आपको बताएंगे|

इसे भी पढ़ें:-सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखें कुछ खास ख्याल, Some special care after cesarean delivery

  • गर्भावस्था में जब तक डॉक्टर सलाह ना दें तब तक अधिक आराम या बेडरेस्ट नहीं करना चाहिए  बल्कि पहले की तरह काम करते रहना चाहिए, और केवल बाहरी कार्य जो आपके सामर्थ्य से अधिक हो मतलब जिसमें अत्याधिक ताकत लगाना पड़े वह नहीं करना चाहिए और ना ही अधिक सीढ़ियां चढ़ना उतरना चाहिए|
  • पेट के बल लेटकर ना सोएं और अधिक सेक्स से दूर रहना चाहिए|
  • गर्भवती स्त्रियों को रात्रि जागरण नहीं करना चाहिए और उन्हें असमय भी नहीं सोना चाहिए इसका दुष्प्रभाव उनके होने वाले बच्चे पर पड़ता है|
  • गर्भवती स्त्रियों को गुस्सा होने से बचना चाहिए और कोशिश करना चाहिए कि लंबी दूरी की यात्रा न करें और विशेषकर इस तरह के वाहन में तो बिल्कुल भी सफर ना करें जिसमें अधिक झटके लग सकते हैं|
  • गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान शराब का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए मांस, तेज मसाले और अत्यधिक गर्म पदार्थों का सेवन भी नहीं करना चाहिए|

इसे भी पढ़ें:-प्रीमैच्योर डिलीवरी क्यों होती हैऔर प्रीमैच्योर शिशु का ध्यान कैसे रखें?Premature delivery

  • गर्भवती स्त्रियों को एलोपैथिक दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए इससे गर्भ में पल रहे बच्चे पर विपरीत प्रभाव पड़ता है उन्हें किसी भी प्रकार की विकलांगता पैदा हो सकती है|
  • गर्भवती स्त्री को सीधे हवा के संपर्क में आने से बचना चाहिए और बच्चे के जन्म के बाद मां को ठंडे जल का प्रयोग नहीं करना चाहिए |
  • गर्भावस्था के दौरान महिला को अच्छी किताबें पढ़नी चाहिए और कड़वी बातें नहीं करना चाहिए कड़वी बातें करने से इसका विपरीत प्रभाव होने वाली संतान पर पड़ता है|
  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती स्त्री के पेट में अधिकतर खुजली होती रहती है उसे दूर करने के लिए नाखूनों से नहीं खुजालना चाहिए बल्कि हल्के हल्के से सहलाना चाहिए|
  • गर्भवती स्त्री को भोजन करने के उपरांत तुरंत नहीं सोना चाहिए थोड़ा सा लेट कर आराम कर लेना चाहिए फिर कुछ देर घूमने-फिरने के बाद हल्का-फुल्का काम करके ही सोना चाहिए|
  • गर्भावस्था के शुरू के 4 महीने तक गर्भवती स्त्री को कभी भी खाली पेट नहीं रहना चाहिए बल्कि उल्टियां आने के बाद भी थोड़ा थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खाते रहना चाहिए गर्भावस्था के दौरान आप जितना अधिक पानी पी सकती हैं पीना चाहिए |
  • गर्भावस्था के दौरान यदि गर्भवती स्त्री को बुखार आ जाए तो कोई भी मेडिसिन या औषधि बिना सलाह के नहीं लेना चाहिए वरना इससे गर्भपात होने की भी संभावना हो सकती  है |गर्भवती स्त्री को नियमित चेकअप करवाते रहना चाहिए इसमें कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहिए और जीन स्त्रियों को बार-बार गर्भपात होने की तकलीफ है उन्हें व्यायाम बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह से करना चाहिए
  • गर्भावस्था में परफ्यूम का इस्तेमाल ना करें और ना ही अगरबत्ती या धूप बत्ती के संपर्क में आए |

इसे भी पढ़ें:-गर्भावस्था के दौरान भोजन कैसा होना चाहिए, What should be the food during pregnancy

गर्भावस्था के शुरुआती संकेत,Early Symptoms of Pregnancy in hindi

नई माताओं के लिए आवश्यक एवं महत्वपूर्ण सुझाव

स्तन कैंसर के लक्षण और उससे बचाव के उपाय,Symptoms of Breast cancer

कमजोर और दुबले -पतले बच्चो को इन आहार के जरिये करे मोटा

छोटे बच्चों की मालिश कैसे करें, How to massage a new born baby

                 नई माताओं के लिए आवश्यक एवं महत्वपूर्ण सुझाव

                दोस्तों आपके द्वारा किया गया एक SHARE भी किसी के लिए अमृत के समान हो सकता है इसलिए यहां दिए गए SHARING Button पर क्लिक करके Facebook, Whatsup, Google plus, Twitter सभी जगह पर इस लेख को शेयर करें | हमारी मदद करें स्वदेशी व प्राचीन नुस्खों को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए |

धन्यवाद,

 

1 thought on “गर्भावस्था में यह गलतियां कभी ना करें,Pregnency Prication

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *