December 13, 2018

इन कारणों से अधिक रोता है आपका बच्चा

इन कारणों से अधिक रोता है आपका बच्चा for gharelu paramarsh

इन कारणों से अधिक रोता है आपका बच्चा

इन कारणों से अधिक रोता है आपका बच्चा:- बच्चे  के खुश रहने से सारे घर में खुशी रहती है लेकिन जैसे ही बच्चा रोने लगता है तो घर का हर व्यक्ति उसे चुप करवाने में लग जाता है | कई बार तो बड़े भी रोते हुए बच्चों को चुप करवाने में बच्चे बन जाते हैं | लेकिन आपने कई बार देखा होगा की बच्चा बहुत अधिक रोने लगता है और कई प्रयासों के बावजूद भी चुप नहीं होता है | इसका कारण यह होता है कि बच्चे को सामान्य से हटकर कुछ परेशानी हो रही है और बच्चे के सामान्य से अधिक रोने पर आपको उसके रोने के कारण का पता करना चाहिए ताकि यदि बच्चे को किसी तरह की समस्या है तो उसका तुरंत समाधान हो सके |

बच्चे की रोने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि बच्चे के पेट में गैस होना, भूख के कारण, नींद पूरी ना होने के कारण, तबीयत खराब होने के कारण आदि ऐसी बहुत सी समस्या हो सकती है जिसके कारण बच्चे को परेशानी हो सकती है|  बच्चे का सामान्य से ज्यादा रोना भी उसके शारीरिक विकास पर असर डालता है इसी वजह से बच्चे को अधिक नहीं रोने देना चाहिए | तो दोस्तों आज इस पोस्ट माध्यम से हम जानेंगे कि बच्चे को वह कौन-कौन सी समस्या हो सकती है जिसके कारण बच्चे अधिक रोना शुरु कर देते हैं

बच्चा बहुत अधिक रो रहा है तो यह परेशानी हो सकती है:

बच्चे को भूख लगने का कोई निश्चित समय नहीं होता है | यदि बच्चा अपना आहार ठीक तरह से नहीं ग्रहण करता है तो वह थोड़े समय बाद भूखा हो जाता है, भूख लगने पर यदि बच्चा रोने लगे तो उसे एक बार दूध पिला कर देखना चाहिए यदि बच्चा भूख लगने के कारण हो रहा होगा तो वह दूध पीने के बाद शांत हो जाएगा |

डायपर गीला होने के कारण-

आजकल हर माता-पिता अपने बच्चों को बार-बार गिला होने से बचाने के लिए डायपर का इस्तेमाल करते हैं | ऐसे में यदि आपके बच्चे का डायपर गीला हो जाता है या बीच में पॉटी कर देता है तो इस कारण बच्चा और  असहज महसूस करने लगता है और वह रोना शुरू कर देता है | इसलिए यदि मां अपने बच्चे को डायपर पहनाती है तो डाइपर को बीच-बीच में चेक करके भी देखना चाहिए | डायपर ज्यादा पहनने के कारण कई बार बच्चे को रैसेस की समस्या भी हो सकती है जिसके कारण शिशु अधिक रोना लगता है |

पेट में दर्द या गैस के कारण-

छोटे बच्चों की पाचन क्रिया काफी कमजोर होती है इसलिए यदि आप छोटे बच्चे को कुछ भी खिलाने पिलाने के बाद डकार नहीं दिलवाते हैं तो इसके कारण बच्चों को पेट में दर्द या गैस की परेशानी होना आम बात होती है | इस स्थिति में आपको यह देखना चाहिए कि आपके बच्चे का पेट यदि टाइट है तो उसे गैस की परेशानी हो सकती है और इसका इलाज कराना चाहिए ताकि बच्चे को आराम मिल सके |

अपनी ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए-

छोटे बच्चे को घर में हर समय कोई ना कोई गोद में उठा कर रखता है या उसे खिलाने में लगा रहता है तो ऐसे में यदि आप शिशु से थोड़ी देर बात ना करें या उसे गोद में ना उठाए तो शिशु आप का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए रोने लगता है | और यदि बच्चे के रोने का कारण केवल यही होता है तो आपकी गोद में आते ही वह चुप हो जाता है |

अधिक गर्मी या सर्दी लगने के कारण-

बच्चे को अधिक गर्मी  या अधिक सर्दी लगती है तो भी बच्चा रोना शुरु कर देता है | ऐसे में आपको यह विशेष ध्यान रखना चाहिए कि शिशु के लिए आप अपने घर के तापमान को सही रखें और यदि तापमान सही रहता है तो शिशु परेशान नहीं करता और ना ही रोता है |

नींद पूरी ना होने के कारण-  

कई बार बच्चा सो रहा होता है तो तेज आवाज के कारण या किसी अन्य वजह से बच्चा उठ जाता है इस कारण बच्चे की नींद पूरी नहीं हो पाती है | बच्चे की नींद पूरी ना होने के कारण शिशु चिड़चिड़ा हो जाता है जिसके कारण वह रोने लगता है | ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए कि बच्चे की नींद अच्छी तरह से पूरी हो जाए और उसके सोने में किसी तरह की परेशानी ना हो |

नए दांत निकलने पर-

बच्चे के शरीर का विकास जन्म से लेकर उसके बड़े होने तक चलता ही रहता है | लेकिन इसमें सबसे कठिन समय तब आता है जब बच्चे के नए दाँत आने लगते हैं और इस समय बच्चे को उल्टी दस्त चिड़चिड़ापन बुखार आदि बहुत सी समस्याएं होती हैं जिसके कारण बच्चा अधिक रोता है | ऐसे में आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि जब बच्चे के दाँत निकल रहे हो तो बच्चे की देखभाल अच्छे से करें |

बुखार आदि परेशानी होने पर-

यदि बच्चा शारीरिक रूप से ठीक नहीं है जिसके कारण बच्चे को बुखार, खांसी या जुकाम आदि शरीर से संबंधित कोई भी परेशानी होती है तो भी बच्चा अधिक चिड़चिड़ा हो जाता है जिसके कारण बच्चा अधिक रोने लगता है | ऐसे में आपको बच्चे को तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए | ताकि बच्चे को इस परेशानी से आराम मिल सके |

                  तो दोस्तों यह थे कुछ कारण जिनकी वजह से बच्चा अधिक रो सकता है | लेकिन इसके बाद भी यदि बहुत प्रयास करने पर भी बच्चा चुप नहीं हो रहा है तो हो सकता है कि उसे कोई और परेशानी हो तो ऐसे में अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श लें | ताकि यदि बच्चे के शरीर से जुड़ी कोई परेशानी हो तो उसका तुरंत पता लगाया जा सके |

इसे भी पढ़ें:-

छोटे बच्चों की मालिश कैसे करें, How to massage a new born baby

नवजात शिशु को नहलाने का तरीका,Tips for Bathing your new born baby

बच्चो को होने वाली आम बीमारिया और उनके इलाज

0 से 12 माह तक कैसा होना चाहिए आपके शिशु का डाइट प्लान

कमजोर और दुबले -पतले बच्चो को इन आहार के जरिये करे मोटा

बच्चों को ऐसे बताएं गुड टच (GOOD TOUCH ) और बैड टच (BAD TOUCH ) के बारे में

जुड़वाँ बच्चे कैसे पैदा होते हैं | विस्तृत जानकारी,How twins are born

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *